अग्रवाल समाज के कुछ स्वार्थी व धनलोलुप लोग, अग्रवाल समाज के कर्णधार के रूप में आपके समक्ष प्रस्तुत होते है इनका अग्रवाल के समाजहित से कोई लेना – देना नही है, ये महाराज अग्रसेन के बताये मार्ग में बिलकुल नही चलते,  ये अपने काले धन की रक्षा करने और अपने बेनामी सम्पति को बचाने के उद्देश्य से आपके पास कोई न कोई बहाना / मांग / समस्या के आड़ में आपके साथ चिपक कर फोटो खिचवाने का प्रयास करते है .

आप ख़ुफ़िया तरीके से इनकी रिपोर्ट ले सकते है कौन – कौन किस किस आर्थिक अपराध में लिप्त है इसीलिये इनसे सावधान रहे, अभी अग्रवाल समाज में स्वछता अभियान चला कर गंदगी को साफ़ करने का प्रयास किया जा रहा हैं, जिससे वाकई महाराज अग्रसेन जी के बताये मार्ग में चलने वाले चिन्हित हो सके, जिस पर निम्न बिंदुओं पर खुली बहस / मंथन  की जा रही हैं .

सभी अग्र बंधुओ के विचार आमंत्रित हैं

  1. अग्रवाल समाज के बाईलार्ज को सार्वजनिक किया जाय .
  2. अग्रवाल समाज में कौन – कौन अधिकृत सदस्य हैं उन्हें कब और किसने सदस्य बनाया ये सार्वजनिक हो.
  3. अग्रवाल समाज के पदाधिकारी बनाने की क्या प्रकिया हैं ?
  4. अग्रवाल समाज के गत 2 वर्ष के वित्तीय व्यवहार को सार्वजनिक किया जाय.
  5. अग्रवाल समाज के द्वारा विधायक निधि व सांसद निधि से भवन व अन्य निर्माण कार्य करवाया गया हैं इसीलिए अग्रवाल समाज के सभी दस्तावेज़ पर आम नागरिकों को प्राप्त करने का अधिकार ..... सूचना के अधिकार अधिनियम ...... लागू होगा .
  6. अग्रवाल समाज में .....राईट टू रिकाल...... के तहत पदाधिकारियों को पद से हटाने का अधिकार सामान्य सदस्यों को होना चाहियें .
  7. कालाधनधारियों, बेनामी सम्पति धारको, गम्भीर आर्थिक अपराधियों को किसी भी पद में चुनाव लड़ने का अधिकार नही होना चाहियें.
  8. जो व्यक्ति किसी राजनैतिक दल का पदाधिकारी हो या किसी भी प्रकार का चुनाव लडा हो उसे समाज का पदाधिकारी ना बनाया जाय .
  9. गरीब सवर्ण को आरक्षण दिलाने के लिए संकल्पित हो.
  10. महाराज अग्रसेन के सभी मानने वाले जैसे – बीसा, दशा, मारवाड़ी, राजिस्थानी, हरियाणवी, दिल्ली वालो को जोड़ने का प्रयास किया जाय और उससे भाई चारा स्थापित करने का प्रयास किया जाय.

अभी भाजपा के द्वारा जन आशीर्वाद यात्रा में कलयुग के आराध्य व  भाग्यविधाता अपना चेहरा दिखाने भारी पुलिस बल और भक्तो के साथ आवेगे उनसे ये 15 प्रश्न बिल्कुल मत पूछना नही तो क्या हो ये कहाँ नही जा सकता,

 

       ये 15 सवाल करना मना हैं

 

1.लोकपाल बिल कब लागू होगा, दिनांक बतावो .

  1. अभी तक कितने भ्रष्ट अधिकारियो की सम्पति जप्त किये, उनके नाम और पदनाम तथा और कितनी राशी जप्त की वर्षवार जानकारी दो .

 

  1. छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय में रिक्त जजों की नियुक्ति के लिए रमन सिंह ने क्या प्रयास किये .

 

4.छत्तीसगढ़ राज्य सूचना आयोग में कितने वर्ष की पेडेन्सी हैं और ये पेडेन्सी कब खत्म होगी.

 

5.छत्तीसगढ़ शासन सूचना के अधिकार की धारा – 4 को क्यों लागू नही कर रहा हैं.

 

6.जलकी कांड में क्या बृजमोहन अग्रवाल निर्दोष हैं, तो फिर क्लेकटर महासमुंद की रिपोर्ट को सार्वजनिक किया जाय.

7.मंहगाई कब कम होगी और बेरोजगारो को कब तक रोजगार मिलेगा, दिनांक बतावो .

 

8.प्रदेश के शिक्षाकर्मियों और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओ के साथ कब न्याय होगा . दिनांक बतावो

 

9.15 लाख रुपए खाते में कब जमा होगें, दिनांक बतावो .

 

10.जिन लोगो ने माननीय नन्दकुमार साय जी के पैर तोड़े उनको कब सजा मिलेगी, दिनांक बतावो.

 

  1. नरेन्द्र मोदी के सामने भाजपा कार्यालय, एकात्म परिसर में तोड़ – फोड़ करने वालो को सजा कब मिलेगी, दिनांक बतावो .

 

  1. राम मंदिर कब बनेगा, दिनांक बतावो.

 

13.विदेशो में जमा कालाधन कब वापस आएगा, दिनांक बतावो.

 

14.अजीत जोगी के जाति प्रमाणपत्र पर रमन सिंह क्या सोचते हैं बताइये.

 

15.विजय माल्या, ललित मोदी और नीरव मोदी से कब तक पैसा वसूल कर उन्हें जेल में बंद करेगे, दिनांक बताइये.

 

ये 15 सवाल भाजपा के जन आशीर्वाद यात्रा में आये कलयुग आराध्य और भाग्यविधाताओं से ना पूछे अन्यथा आपके साथ जो भी होगा उसकी जिम्मेदारी आपकी होगी.             

*आँख फाड देने वाला सच, पढ कर आप भी आश्चर्य चकित रह जायेगे ?* 😳😳
______

भारत में कुल 4120 MLA और 462 MLC हैं अर्थात कुल 4,582 विधायक। 
______

प्रति विधायक वेतन भत्ता मिला कर प्रति माह 2 लाख का खर्च होता है। अर्थात 
______

91 करोड़ 64 लाख रुपया प्रति माह। इस हिसाब से प्रति वर्ष लगभ 1100 करोड़ रूपये।
______

भारत में लोकसभा और राज्यसभा को मिलाकर कुल 776 सांसद हैं। 
______

इन सांसदों को वेतन भत्ता मिला कर प्रति माह 5 लाख दिया जाता है। 
______

अर्थात कुल सांसदों का वेतन प्रति माह 38 करोड़ 80 लाख है। और हर वर्ष इन सांसदों को 465 करोड़ 60 लाख रुपया वेतन भत्ता में दिया जाता है।
______

अर्थात भारत के विधायकों और सांसदों के पीछे भारत का प्रति वर्ष 15 अरब 65 करोड़ 60 लाख रूपये खर्च होता है।
______

ये तो सिर्फ इनके मूल वेतन भत्ते की बात हुई। इनके आवास, रहने, खाने, यात्रा भत्ता, इलाज, विदेशी सैर सपाटा आदि का का खर्च भी लगभग इतना ही है।
______

अर्थात लगभग 30 अरब रूपये खर्च होता है इन विधायकों और सांसदों पर। 
______

अब गौर कीजिए इनके सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों के वेतन पर। 
______

एक विधायक को दो बॉडीगार्ड और एक सेक्शन हाउस गार्ड यानी कम से कम 5 पुलिसकर्मी और यानी कुल 7 पुलिसकर्मी की सुरक्षा मिलती है। 
_____

7 पुलिस का वेतन लगभग (25,000 रूपये प्रति माह की दर से) 1 लाख 75 हजार रूपये होता है। 
______

इस हिसाब से 4582 विधायकों की सुरक्षा का सालाना खर्च 9 अरब 62 करोड़ 22 लाख प्रति वर्ष है।

______

इसी प्रकार सांसदों के सुरक्षा पर प्रति वर्ष 164 करोड़ रूपये खर्च होते हैं। 
______

Z श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त नेता, मंत्रियों, मुख्यमंत्रियों, प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए लगभग 16000 जवान अलग से तैनात हैं। 
______

जिन पर सालाना कुल खर्च लगभग 776 करोड़ रुपया बैठता है।
_____

इस प्रकार सत्ताधीन नेताओं की सुरक्षा पर हर वर्ष लगभग 20 अरब रूपये खर्च होते हैं।
●●●●
*अर्थात हर वर्ष नेताओं पर कम से कम 50 अरब रूपये खर्च होते हैं।* 
●●●●
इन खर्चों में राज्यपाल, भूतपूर्व नेताओं के पेंशन, पार्टी के नेता, पार्टी अध्यक्ष , उनकी सुरक्षा आदि का खर्च शामिल नहीं है। 
______

यदि उसे भी जोड़ा जाए तो कुल खर्च लगभग 100 अरब रुपया हो जायेगा।
______

अब सोचिये हम प्रति वर्ष नेताओं पर 100 अरब रूपये से भी अधिक खर्च करते हैं, बदले में गरीब लोगों को क्या मिलता है ?

*क्या यही है लोकतंत्र ?*

*(यह 100 अरब रुपया हम भारत वासियों से ही टैक्स के रूप में वसूला गया होता है।)*

_एक सर्जिकल स्ट्राइक यहाँ भी बनती है_

◆ भारत में दो कानून अवश्य बनना चाहिए

→पहला - चुनाव प्रचार पर प्रतिबंध 
नेता केवल टेलीविजन ( टी वी) के माध्यम से प्रचार करें

→दूसरा - नेताओं के वेतन भत्तो पर प्रतिबंध

| तब दिखाओ देशभकित |

अब जनरल (GEN) केटेगरी मे कोई भी अन्य वर्ग का (OBC-SC-ST) अब नौकरी या कॉलेज मे apply नही कर सकता...मतलब वो लॉग अपनी ही कैटेगिरी मे apply करेंगे अर्थात आरक्षण के नाम पर obc को 27%, sc को 15% और st को 7.5% यानि 50% जनसँख्या को 49.5% आरक्षण और बाकि बचा 50.5% अघोषित आरक्षण मात्र 50% सवर्णो शेष जातियों के हिस्से में बच गया है । और यही फार्मूला पूरे देश में लागू होने वाला है ।
आज सवर्ण जाती की पहली जीत हासिल हुई है। आज दिल्ली हाईकोर्ट का फैसला आया है और फैसला दिया है कि आरक्षित वर्ग के व्यक्तियों को सिर्फ आरक्षण उनके वर्ग में ही मिलेगा चाहे उसका मेरिट मे कितना ही ऊँचा स्थान हो। अगर कोई जाति प्रमाण पत्र देता है तो उसे आरक्षित क्षेत्र में ही जगह मिलेगी और वह अनारक्षित कोटा में जगह नहीं बना सकता। रोस्टर प्रणाली के तहत मुकदमा किया था और वे लोग विजयी हुए ।

अहमदाबाद.नरेंद्र मोदी ने बनासकांठा की रैली में दूसरी बार मणिशंकर अय्यर पर निशाना साधा। अय्यर ने गुरुवार को उन्हें नीच किस्म का आदमी बताया था। मोदी ने कहा, "अय्यर ने कल मेरे बारे में क्या कहा था? आपको पता है ना? मैं गाली की बात नहीं करता, क्योंकि इसे सुनने की आदत-सी हो गई है। मैं जब पीएम बना तो ये भाई पाकिस्तान गए थे। वहां जाकर मुझे हटाने की सुपारी दी थी। सोशल मीडिया में उनकी इस पाकिस्तान यात्रा का पूरा हिसाब मौजूद है। तब उन्होंने वहां पाक के लोगों से चर्चा में कहा था कि अगर आप मोदी को रास्ते से नहीं हटाएंगे तो भारत-पाक के संबंध सुधर नहीं पाएंगे। अरे भाई, अब बताओ मोदी को रास्ते से हटाने के लिए पाकिस्तान की मदद की जरूरत पड़ रही है? अब कांग्रेस को ये भी बताना चाहिए कि उसका पाकिस्तान कनेक्शन क्या है? मुझे रास्ते से हटाने का मतलब क्या है? पाक जाकर आप मुझे हटाने की बात करते हैं?''  ( dainik bhaskar )

Popular Videos

Category: रायपुर

Category: शिक्षा

Category: वन विभाग

Category: शिक्षा

Featured Videos

Category: शिक्षा

Category: रायपुर

Category: रायपुर

Category: शिक्षा

विशेष  सूचना -  यदि किसी समाचार को रोकने या चलाने संबंधी दावा किया जाता है तो संपर्क करें -  अनिल अग्रवाल , 7999827209

सोशल मीडिया

संपर्क करें

अनिल अग्रवाल
संपादक
दानीपारा, पुरानी बस्ती
रायपुर,  छ्त्तीसगढ
492001
Mobile   - 7999827209
Email    - anilvafadar@gmail.com
website - http://www.vafadarsaathi.com

Please publish modules in offcanvas position.